s
By: RF competition   Copy   Share  (90) 

मुहावरे और लोकोक्ति का प्रयोग कब और क्यों किया जाता है? || Muhavare and Lokokti

1303

मुहावरे और लोकोक्ति के प्रयोग से भाषा में सरलता, सरसता, चमत्कार और प्रवाह उत्पन्न होता है। मुहावरे का प्रयोग वाक्य के प्रसंग में होता है अलग नहीं। जैसे यदि कोई कहे 'पेट काटना' तो इसमें कोई विलक्षण अर्थ प्रकट नहीं होता इसके विपरीत, कोई कहे कि 'मैंने पेट काटकर अपने लड़के को पढ़ाया' तो वाक्य में लाक्षणिकता, लालित्य और प्रवाह उत्पन्न होगा।
मुहावरा अपना असली रूप कभी नहीं बदलता। अर्थात् उसे पर्यायवाची शब्दों में अनूदित नहीं किया जा सकता। जैसे 'कमर टूटना' मुहावरे के स्थान पर कटिभंग शब्द का प्रयोग नहीं किया जा सकता।
इसी प्रकार लोकोक्ति के प्रयोग से भाषा के सम्प्रेषण में सरलता और सौन्दर्य आ जाता है। लोकोक्ति के पीछे कोई कहानी, या घटना होती है। लोकोक्ति को अपना भाव प्रकट करने के लिए वाक्यांश की आवश्यकता नहीं रही। यह अपने आप में पूर्ण होती है।
उदाहरण 'नौ दिन चले अढ़ाई कोस' का सामान्य अर्थ नौ दिन में केवल ढाई कोस चलना है, जबकि इसका विशेष अर्थ है अधिक परिश्रम करने पर परिणाम थोड़ा आना। ये लोकोक्ति हैं।

हिन्दी व्याकरण के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।।
1. शब्द क्या है- तत्सम एवं तद्भव शब्द
2. देशज, विदेशी एवं संकर शब्द
3. रूढ़, योगरूढ़ एवं यौगिकशब्द
4. लाक्षणिक एवं व्यंग्यार्थक शब्द
5. एकार्थक शब्द किसे कहते हैं ? इनकी सूची
6. अनेकार्थी शब्द क्या होते हैं उनकी सूची
7. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (समग्र शब्द) क्या है उदाहरण
8. पर्यायवाची शब्द सूक्ष्म अन्तर एवं सूची
9. शब्द– तत्सम, तद्भव, देशज, विदेशी, रुढ़, यौगिक, योगरूढ़, अनेकार्थी, शब्द समूह के लिए एक शब्द
10. हिन्दी शब्द- पूर्ण पुनरुक्त शब्द, अपूर्ण पुनरुक्त शब्द, प्रतिध्वन्यात्मक शब्द, भिन्नार्थक शब्द
11. द्विरुक्ति शब्द क्या हैं? द्विरुक्ति शब्दों के प्रकार

आशा है, उपरोक्त जानकारी परीक्षार्थियों / विद्यार्थियों के लिए ज्ञानवर्धक एवं परीक्षापयोगी होगी।
धन्यवाद।
R F Temre
rfcompetition.com



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe