s
By: RF Competition   Copy   Share  (110) 

मुगल सम्राट अकबर द्वारा निर्मित करवाये गये महत्वपूर्ण वास्तुशिल्प | Important architectures built by the Mughal Emperor Akbar

2287

सम्राट अकबर का शासनकाल मुगल कला एवं वास्तुकला का स्वर्ण युग माना जाता है। अकबर ने अपने शासनकाल के दौरान कला एवं स्थापत्य कला के विकास में गहरी रूचि ली। उसके शासनकाल के निर्माण कार्यों में लाल बलुआ प्रस्तर का प्रयोग किया जाता था। इसके अतिरिक्त उसने भवनों में चतुष्कोणीय मेहराबों के प्रयोग का भी प्रचलन किया। उसके शासनकाल के प्रमुख निर्माण कार्य एवं वास्तुशिल्प के उत्कृष्ट उदाहरण इस प्रकार हैं-
1. आगरा का किला
2. फतेहपुर सीकरी

The reign of Emperor Akbar is considered to be the golden age of Mughal art and architecture. Akbar took keen interest in the development of art and architecture during his reign. Red sandstone was used in the construction works of his reign. Apart from this, he also practiced the use of quadrangular arches in buildings. The main construction works and excellent examples of architecture of his reign are as follows-
1. Agra Fort
2. Fatehpur Sikri

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. भारत की वास्तुकला, मूर्तिकला एवं मृद्भाण्ड
2. हड़प्पा सभ्यता के स्थल एवं उनसे प्राप्त वास्तुकला एवं मूर्तिकला के उदाहरण
3. हड़प्पा सभ्यता की वास्तुकला
4. हड़प्पा सभ्यता की मोहरें
5. हड़प्पा सभ्यता की मूर्ति कला
6. हड़प्पा सभ्यता से प्राप्त मृद्भाण्ड एवं आभूषण

आगरा का किला- आगरा का किला अकबर के शासनकाल के दौरान आरंभ किए गए पहले निर्माण कार्यों में से एक है। हालाँकि, इस किले के अन्दर की अधिकांश आधुनिक संरचनाएँ शाहजहाँ द्वारा निर्मित हैं। इस किले के अन्दर के बागों का निर्माण चार बाग शैली में करवाया गया था। अकबर इस किले के परिसर का प्रयोग अपने हर्रम अर्थात् 5000 से भी अधिक स्त्रियों के निवास स्थल के रूप में करता था।

Agra Fort- Agra Fort is one of the first construction works started during the reign of Akbar. However, most of the modern structures inside this fort are built by Shah Jahan. The gardens inside this fort were built in the Char Bagh style. Akbar used the premises of this fort as his Harram, that is, the residence of more than 5000 women.

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. मौर्य कला एवं स्थापत्य कला
2.मौर्य काल की दरबारी कला
3. मौर्य काल की लोकप्रिय कला
4. मौर्योत्तर कालीन कला की जानकारी
5. मौर्योत्तर काल की स्थापत्य कला- गुफाएँ एवं स्तूप

इस किले के अन्दर के प्रमुख भवन निम्नलिखित हैं-
1. शाहजहाँ द्वारा निर्मित मोती मस्जिद
2. शाहजहाँ द्वारा निर्मित दीवान-ए-आम (यह सार्वजनिक दर्शकों का हॉल हुआ करता था।)
3. शाहजहाँ द्वारा निर्मित दीवान-ए-खास (यह निजी दर्शकों का हॉल हुआ करता था।)
4. शीश महल (यह तुर्की स्नान घर हुआ करता था।)
5. जहाँगीरी महल

The main buildings inside this fort are-
1. Moti Masjid built by Shah Jahan
2. Diwan-i-Aam (This used to be the hall of public audience) built by Shah Jahan
3. Diwan-i-Khas (It used to be the hall of private audience) built by Shah Jahan
4. Sheesh Mahal (It used to be Turkish bath house.)
5. Jahangiri Mahal

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. मौर्योत्तर कालीन मूर्तिकला- गांधार, मथुरा और अमरावती शैली
2. मूर्तिकला शैली - गांधार, मथुरा तथा अमरावती शैलियों में अंतर
3. यूनानी कला एवं रोमन मूर्ति-कला
4. शरीर की विभिन्न मुद्राएँ - महात्मा बुद्ध से संबंधित
5. हिन्दू मंदिरों के महत्वपूर्ण अवयव- गर्भगृह, मंडप, शिखर, वाहन

फतेहपुर सीकरी- भारतीय इस्लामी वास्तुकला का प्रमुख आकर्षण फतेहपुर सीकरी में अकबर द्वारा एक राजधानी का निर्माण करवाया गया था। भारतीय इतिहास में इसे 'ठहरे क्षण' के रूप में वर्णित किया गया है। क्योंकि यहाँ की इमारतों में हिन्दु और फारसी शैलियों के अद्वितीय मिश्रण को देखा जा सकता है। इस शहर के प्रमुख भवन निम्नलिखित हैं-
1. बुलंद दरवाजा
2. शेष सलीम चिश्ती का मकबरा
3. पंच महल
4. जोधाबाई या मरियम-उज-जमानी का महल
5. इबादतखाना
6. पचीसी आँगन
7. हिरन मीनार

Fatehpur Sikri- The main attraction of Indian Islamic architecture was the construction of a capital by Akbar at Fatehpur Sikri. In Indian history it has been described as 'stay moment'. Because the unique blend of Hindu and Persian styles can be seen in the buildings here. Following are the major buildings of this city-
1. Buland Darwaza
2. Tomb of Sesha Salim Chishti
3. Panch Mahal
4. The palace of Jodha Bai or Maryam-uz-Zamani
5. Ibadatkhana
6. Pachisi Patio
7. Hiran Tower

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. गुप्त कालीन वास्तुकला- गुफाएँ, चित्रकारी, स्तूप और मूर्तियाँ
2. गुप्त काल में मंदिर वास्तुकला के विकास के चरण
3. प्राचीन भारत में मंदिर वास्तुकला की प्रमुख शैलियाँ
4. उत्तर भारत की वास्तुकला की नागर शैली- ओडिशा, खजुराहो और सोलंकी शैली
5. दक्षिण भारत की वास्तुकला- महाबलीपुरम की वास्तुकला

बुलंद दरवाजा- इस दरवाजे का निर्माण सन् 1576 ई. में अकबर के शासनकाल के दौरान उसकी गुजरात पर विजय के उपलक्ष्य में करवाया गया था। यह 40 फीट ऊँची संरचना है। इस भव्य संरचना का निर्माण लाल बलुआ प्रस्तर से किया गया था। यह संसार का सबसे ऊँचा प्रवेश द्वार है।

Buland Darwaza- This door was built in 1576 AD during the reign of Akbar to commemorate his victory over Gujarat. It is a 40 feet high structure. This grand structure was constructed from red sandstone. This is the highest gateway in the world.

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. दक्षिण भारत की द्रविड़ शैली एवं चोल वास्तुकला व मूर्तिकला (नटराज की मूर्ति)
2. दक्षिण भारत की वास्तुकला- नायक, वेसर, विजयनगर (बादामी गुफा मंदिर) और होयसाल शैली
3. बंगाल की वास्तुकला- पाल एवं सेन शैली
4. प्राचीन भारत के प्रमुख विश्वविद्यालय- तक्षशिला, नालंदा, कांचीपुरम
5. भगवान शिव को समर्पित भारत के 12 ज्योतिर्लिंग

शेख सलीम चिश्ती का मकबरा- इसण निर्माण सन् 1581 ई. में करवाया गया था। इस मकबरे पर सफेद संगमरमर की जाली का काम किया गया था। इसकी दीवारों पर अरबी शैली में कुरान की आयतों को अंकित किया गया है। यह एक शाही परिसर में स्थित है, जहाँ पर बुलंद दरवाजा एवं जामा मस्जिद भी स्थित हैं। सन् 1606 ई. में जहाँगीर द्वारा से सजाया गया था।

Tomb of Sheikh Salim Chishti- This construction was done in 1581 AD. The white marble latticework was done on this tomb. The verses of the Quran are inscribed on its walls in Arabic style. It is located in a royal complex, where the Buland Darwaza and Jama Masjid are also located. It was decorated by Jahangir in 1606 AD.

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. भगवान शिव और विष्णु को समर्पित भारत के हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण मंदिर– Part-1
2. पार्ट- 2. भगवान शिव और विष्णु को समर्पित भारत के हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण मंदिर
3. भारत से बाहर विदेशों में स्थित प्रमुख मंदिर
4. भारतवर्ष के महत्वपूर्ण बौद्ध तीर्थस्थल
5. भारत के महत्वपूर्ण जैन तीर्थस्थल

पंच महल- यह पाँच मंजिलों वाली इमारत है। यह इमारत खंभों पर निर्मित की गई है। यह फारसी बादगीर की अवधारणा से प्रेरित है।

Panch Mahal- This is a five storeyed building. This building is built on pillars. It is inspired by the concept of Persian Badgir.

जोधाबाई या मरियम-उज-जमानी का महल- इस महल पर घंटियों एवं फूलों के सुंदर हिन्दु भित्ति चित्र अंकित हैं।

Jodha Bai or Maryam-uz-Zamani's Palace- Beautiful Hindu frescoes of bells and flowers are inscribed on this palace.

"भारतीय कला एवं संस्कृति" के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. मध्यकालीन भारत में वास्तुकला- इंडो इस्लामिक (भारतीय-अरबी) शैली
2. दिल्ली सल्तनत काल के दौरान वास्तुकला साम्राज्यिक शैली
3. भारतीय कला- बंगाल शैली, जौनपुर शैली, मालवा शैली और बीजापुर शैली
4. मुगल वास्तुकला- बाबर, हुमायूँ और शेरशाह सूरी

इबादतखाना- अकबर इस स्थान का प्रयोग विभिन्न धर्मगुरुओं से चर्चा करने के लिए किया करता था।

Ibadatkhana- Akbar used this place to hold discussions with various religious leaders.

पचीसी आँगन- अकबर इस आँगन का प्रयोग शतरंज खेलने के स्थान के रूप में करता था।

Pachisi courtyard- Akbar used this courtyard as a place to play chess.

हिरन मीनार- अकबर के प्रिय हाथी का नाम हिरण था। उसकी याद में हिरन मीनार का निर्माण करवाया गया था। तत्कालीन समय में यह राहगीरों के लिए प्रकाश स्तंभ का कार्य करता था। इस मीनार पर अनूठे ढंग से डीजाइन की गई थी। इसकी बाह्य दीवारों पर हाथी के दाँत के समान नुकीले कोने बनाये गये हैं।

Hiran Minar- Akbar's favorite elephant was named Hiran. Hiran Minar was built in his memory. In those days it served as a lighthouse for the passers-by. This tower was uniquely designed. Its outer walls have sharp corners like ivory's teeth.

इन सब के अतिरिक्त अकबर ने वृंदावन में गोविंद देव के मंदिर का भी निर्माण करवाया था।

In addition to all this, Akbar also built Govind Dev's temple in Vrindavan.

आशा है, उपरोक्त जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।
धन्यवाद।
R F Temre
rfcompetition.com



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe